नेशनल स्टोरी स्लैम किसके लिए है?

यह प्रतियोगिता(स्लैम) उन लोगों के लिए है जो राष्ट्रीय स्तर(नेशनल लेवल) पर लेखकों की कम्युनिटी से जुड़ना चाहते हैं, जो इंडस्ट्री के बेहतरीन लेखकों से लेखन की बारीकियां सीखना चाहते हैं। यह प्रतियोगिता(स्लैम) उन लोगों के लिए है जो सपने देखते हैं और अक्सर अकेले में कागज़ों पर शब्दों की नक्काशी करते पाए जाते हैं। वे लोग जो सच कहना जानते हैं, वे लोग जिनके पास सुनाने के लिए कहानियाँ हैं, यह स्लैम उनके लिए है।

क्या आपके मन में भी कैद हैं बहुत सी कहानियां?

क्या आप भी एक लेखक हैं और कहानियाँ सुनाने की दुनिया में कदम रखना चाहते हैं?

तो फिर ये स्टेज आपके लिए है - आइये और अपनी कहानी बताइए।

पुरस्कार

नेशनल स्टोरी स्लैम के विजेताओं को नीचे दिए गए
इनामों से नवाज़ा जाएगा -

1. स्पोकन फेस्ट के अगले संस्करण(एडिशन)
में परफॉर्म करने का मौका

2.पचास हज़ार रूपए
तक के इनाम

3.कम्यून के कुछ बेहतरीन कहानीकारों की वर्कशॉप्स
की एक्सक्लुज़िव मेम्बरशिप

निर्णायक

ये हैं नेशनल स्टोरी स्लैम के कुछ निर्णायक(जज)। और नामों की घोषणा जल्द की जाएगी।

हिस्सा लेने की प्रक्रिया(प्रोसेस)

नेशनल स्टोरी स्लैम के पहले राउंड में हिस्सा लेने के लिए आप आपकी कहानी हमें नीचे दिए गए फॉर्म के ज़रिये भेज सकते हैं। अगर आपकी कहानी अगले राउंड के लिए क्वालिफाय कर जाती है तो आप एक लाइव ऑनलाइन इवेंट में अपनी कहानी को निर्णायकों(जजेज़) के एक पैनल के सामने परफॉर्म करेंगे।

अपनी कहानी सबमिट करने से पहले कृपया नीचे दिए गए नियमों को ध्यान से पढ़ें -

कम्यून के नेशनल स्टोरी स्लैम में अपनी एंट्री भेजने के लिए, आपको अपनी कहानी की टेक्स्ट फाइल(पीडीएफ के रूप में) और ऑडियो फाइल (.mp3 फाइल के रूप में) नीचे दिए गए फॉर्म के ज़रिये अपलोड करनी होंगी।

1.
2.

सिर्फ़ कहानियां ही स्वीकार्य(एक्सेपटेबल) हैं। इसका मतलब यह है कि आपकी एंट्री ज़रूरी तौर पर एक कहानी/कथा/अफ़साना होनी चाहिए। कहानी, जिसमें एक शुरुआत हो, किरदार हों। एक चुनौती या कॉनफ्लिक्ट हो और फिर उस कॉनफ्लिक्ट का समाधान(सॉल्यूशन) हो। अब यह तीनों चीज़ें आपकी कहानी में किस ऑर्डर में हों यह आप तय करें - लेकिन कहानी में इन तीनों एलीमेंट्स का होना ज़रूरी है।

नेशनल स्टोरी स्लैम में एक प्रतिभागी(पार्टीसिपेंट) एक ही कहानी सबमिट कर सकता/सकती है।

3.
4.

आपकी कहानी नीचे दी गई थीम्स में से किसी एक पर होनी चाहिए

  • ● प्रेम, रिश्ते, यादें या दूरीयां
  • ● गलतियां या दूसरे मौके
  • ● परिवार, पारिवारिक या निजी इतिहास
  • ● रहस्य, साहस/एडवेंचर, शरारत
  • ● आम जीवन की खासियत/एव्रीडे मैजिक
  • ● लैंगिकता या निजी पहचान
  • ● ज़ख्म ज़िन्दगी के

आप फिक्शन या नॉन-फिक्शन दोनों तरह की कहानियां भेज सकते हैं और आपकी कहानी किसी भी शैली की हो सकती है(उदाहरण - रहस्य, प्रेम, डरावनी आदि)

5.
6.

सिर्फ हिंदी और अंग्रेज़ी में लिखी कहानियाँ स्वीकार्य(एक्सेप्टेबल) होंगी।

आपकी कहानी मौलिक(ओरिजनल) होनी चाहिए और उसका किसी भी अन्य साहित्यिक रचना(कहानी, कविता, उपन्यास/नॉवेल) से कोई ताल्लुक नहीं होना चाहिए। अगर आपकी भेजी गई कहानी या उसका कोई हिस्सा किसी और रचना(राइटिंग) से मिलता है तो आपकी एंट्री डिसक्वालीफाई हो जाएगी।

7.
8.

आपकी कहानी पांच मिनिट की होनी चाहिए। पांच मिनिट से ज़्यादा की कहानियाँ डिसक्वालीफाई कर दी जाएंगी।

नेशनल स्टोरी स्लैम में हिस्सा लेने के लिए आपका भारतीय नागरिक(इन्डियन सिटिज़न) होना आवश्यक है(OCI और NRI लोग भी हिस्सा ले सकते हैं) हिस्सा लेने के लिए आपकी उम्र कम से कम पन्द्रह साल होनी चाहिए।

9.
10.

नेशनल स्टोरी स्लैम में अपनी कहानी सबमिट करने को आखिरी तारीख 4 अगस्त 11:59 PM है

अपनी कहानी सबमिट करने से पहले कृपया नियम एवं शर्तों को ध्यान से पढ़ें।

11.

क्वालिफिकेशन राउंड्स

सबमिशन्स खुलने की तारीख

स्टोरी सबमिशन राउंड

पहले आप अपनी कहानी एक ऑनलाइन फॉर्म
के ज़रिये इस वेबसाइट पर अपलोड करेंगे।

जुलाई

17

अगस्त

4

प्रस्तुतियाँ समाप्त हो जाती हैं
क्षेत्रीय(रीजनल) राउंड्स

क्षेत्रीय(रीजनल) राउंड्स

अगर आप अपने क्षेत्र(रीजन) से चुने गए टॉप 25 कहानीकारों में चुन लिए जाते हैं तो आप एक ऑनलाइन इवेंट में, निर्णायकों(जजेज़) के एक पैनल के सामने परफॉर्म करेंगे। और अपने रीजन के कुछ बेहतरीन कहानीकारों के साथ कम्पीट करेंगे। रीजनल राउंड्स की शुरुआत 13 अगस्त,से होगी। इस स्लैम के लिए पूरे देश को पांच क्षेत्रों(रीजन्स) में बांटा गया है - उत्तरी(नार्थ), दक्षिणी(साउथ), पश्चिमी(वेस्ट), पूर्वी(ईस्ट) और मध्य(सेन्ट्रल।)

अगस्त

13-15

अगस्त

21-22

सेमी फाइनल्स

सेमी फाइनल्स

रीजनल राउंड्स से चुने गए टॉप 50 कहानीकार सेमी फाइनल के लिए क्वालिफाय करेंगे। और अगर आपका नाम चुने हुए कहानीकारों में आता है तो आप एक ऑनलाइन इवेंट में निर्णायकों(जजेज़) के एक स्पेशल पैनल के सामने परफॉर्म करेंगे। हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं के लिए एक अलग सेमी-फाइनल करवाया जाएगा। इसका मतलब इस राउंड में कुल 2 सेमी फाइनल्स होंगे, एक सेमी फाइनल 21 अगस्त को और दूसरा 22 अगस्त को करवाया जाएगा।( हर सेमी फाइनल में 25 प्रतिभागी हिस्सा लेंगे)

फाइनल्स

फाइनल्स

अगर आप फाइनल राउंड के लिए क्वालीफाई कर जाते हैं तो आप निर्णायकों(जजेज़) के एक बहुत ख़ास पैनल के सामने परफॉर्म करेंगे। हिंदी और इंग्लिश कैटेगरी में चुने गए टॉप 10-10 कहानीकार फाइनल्स के लिए क्वालिफाय करेंगे। इस राउंड में 2 अलग(सेपरेट) फाइनल्स होंगे - एक हिंदी केटेगरी में और एक इंग्लिश केटेगरी में। इस प्रतियोगिता(स्लैम) के विजेता भी दो होंगे। फाइनल्स 29 और 30 अगस्त को करवाए जाएँगे।

अगस्त

29-30

तो क्या तैयार है आपकी कहानी?

यहाँ सबमिट करें

नेशनल स्टोरी स्लैम
से जुड़ी हर अपडेट्स पाएं यहाँ:

अगर आप इस स्लैम में हिस्सा लेना चाहते हैं और अभी आपकी कहानी सबमिट करने के तैयार नहीं है, तो अपनी मेल आईडी नीचे दर्ज करें। हम आपको स्लैम से जुड़ी हर जानकारी से अपडेट करते रहेंगे।

कम्यून के बारे में

बेहतरीन कला और बेहतरीन कलाकरों को प्रमोट करने का काम करने वाला प्लेटफ़ॉर्म कम्यून, भारत के सबसे बड़े परफॉर्मिंग आर्ट्स प्लेटफॉर्म्स में से एक है, और साथ ही देश के सबसे बड़े स्पोकन वर्ड फेस्टिवल्स में से एक “स्पोकन” का रचयता(क्रिएटर) भी है। पिछले 6 सालों में कम्यून ने भारत के 15+ शहरों से आने वाले 5000 से ज़्यादा लेखकों, कवियों और कहानीकारों को एक स्टेज देकर उन्हें प्रमोट करने का काम किया है। कहानियों से शुरू हुआ प्लेटफ़ॉर्म कम्यून आज देशभर में अपनी कहानियों और अपने कहानीकारों के लिए जाना जाता है। हमारा लक्ष्य लोगों को कहानियों की मदद से करीब लाना और उन्हें कहानियों की ताकत से रू ब रू करवाना है।